Tag: JAISETAISE NEWS

Rajasthan International Film Festival

उम्दा फिल्मों को नवाजा गया राजस्थान फिल्म समारोह में -दीपक दुआ   हाल ही में जयपुर में आयोजित किए गए पांचवें राजस्थान इंटरनेशनल फिल्म समारोह (रिफ) के आखिरी दिन कई उम्दा फिल्मों, फिल्मकारों और कलाकारों को पुरस्कृत किया गया। इस बार के ‘रिफ’ की सबसे बड़ी खासियत थी पुणे स्थित राष्ट्रीय फिल्म अभिलेखागार के सौजन्य […]

Kadvi Hawa (Dark Wind) Movie Review

Kadvi Hawa (Dark Wind) Movie Review   रिव्यू-कड़वी है मगर जरूरी है -दीपक दुआ…  ‘कड़वी हवा’ का एक सीन देखिए। क्लास के सब बच्चे एक लड़के की शिकायत करते हुए कहते हैं कि मास्टर जी, यह कह रहा है कि साल में सिर्फ दो ही मौसम होते हैं-गर्मी और सर्दी। मास्टर जी पूछते हैं-बरसात का मौसम कहां गया? जवाब मिलता है- ‘मास्साब, बरसात तो साल में बस दो-चार दिन ही पड़त…!’ यह सुन कर सब बच्चे हंस पड़ते हैं। इधर थिएटर में भी हल्की-सी हंसी की आवाजें फैलती हैं। लेकिन इस हल्के-फुल्के सीन में कितना बड़ा और कड़वा सच छुपा है उसे आप और हम मानते भले नहों, अच्छे से जानते जरूर हैं। बचपन में स्वेटर पहन कर रामलीला देखने वाली हमारी पीढ़ी आज दीवाली के दिन कोल्ड-ड्रिंक  पीते हुए जब कहती है कि अब पहले जैसा मौसम नहीं रहा, तो यह उस सच्चाई का ही बखान होता है जिसे जानते तो हम सब हैं, लेकिन उसके असर को मानने को राजी नहीं होते। नीला माधव पांडा की यह फिल्म हमें उसी सच से रूबरू करवाती है-कुछ कड़वाहट के साथ। कहानी बीहड़ के एक ऐसे अंदरूनी गांव की है जहां मौसम की मार के चलते हर किसान पर कर्ज है जिसे वापस करने की कोई सूरत न देख किसान एक-एक कर खुदकुशी कर रहे हैं।बैंक के कर्ज की वसूली करने वाले गुनु बाबू को लोग यमदूत कहते हैं क्योंकि वह जिस गांव में जाता है वहां दो-चार लोग तो मौत को गले लगा ही लेते हैं। गुनु बाबू के लिए उसके ‘क्लाइंट’ चूहे हैं। ऐसे में एक अंधा बूढ़ा अपने बेटे के लिए गुनु बाबू से एक अनोखा सौदा कर लेता है। पर क्या कड़वी हवा किसी को यूं ही छोड़ देती है? इस किस्म की फिल्मों के साथ अक्सर यह दिक्कत आती है कि ये या तो अति नाटकीय हो जाती हैं या फिर उपदेश पिलाने लगती हैं। और कुछ नहीं तो हार्ड-हिटिंग बनाने के चक्कर में इनमें दिल दहलाने वाली घटनाएं डालना तो आम बात है। लेकिन इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है। सौ मिनट की होने के बावजूद यह मंथर गति से चलती है, मानो इसे अपनी बात कहने की कोई जल्दी नहीं है। इतने पर भी यह जो कहना और महसूस करवाना चाहती है, बहुत ही सहजता से करवा देती है। नितिन दीक्षित ने अगर अपनी लेखनी से फिल्म को खड़ा किया है तो ‘आई एम कलाम’ और ‘जलपरी’ जैसी उम्दा फिल्में दे चुके नीला माधव पांडा अपने निर्देशकीय-कौशल का भरपूर प्रदर्शन करते हुए इसे ऊंचाई पर ले गए हैं। हालांकि मौसम की मार से ज्यादा यह कर्जे की मार तले दबे किसानों की कहानी लगती है और […]

Second trailer of Aksar 2 is on Fire

Second trailer of Aksar 2 is on Fire  The Second trailer of actress Zareen Khan, Gautam Rode and Abhinav Shukla starrer  film “Aksar 2” has been released. This second trailer is getting much flattering and amazing response from the public on social media. After watching the trailer it seems like the film is full of […]

Bollywood Upcoming big Films, 9 Friday 9 Expectations

Bollywood Upcoming big Films. 9 शुक्रवार 9 उम्मीदें. 9 Friday 9 Expectations at box office. Bollywood Upcoming Films || 9 Friday 9 Expectations in this Year 2017 Report by Film Critic Deepak Dua. Read this report at cineyatra.com 9 शुक्रवार 9 उम्मीदें  -दीपक दुआ… दिवाली से लेकर नए साल के आने तक फिल्मी कारोबारी जोश-खरोश […]

मिल गया टिकट टू बॉलीवुड

मिल गया टिकट टू बॉलीवुड- क्या कोई फैशन शो फैशन, ज्वेलरी, मेकअप, हेयर स्टाइल, वेडिंग प्लानिंग, लाइफस्टाइल आदि से जुड़े लोगों को बॉलीवुड का टिकट दिला सकता है? जी हां, हाल ही में मुंबई में हुए एक अनोखे और रंगारंग अवार्ड शो ‘पेज 3 फैशन और लाइफस्टाइल अवार्ड्स (पी3एफएलए) में ऐसी कई प्रतिभाओं को फिल्मी […]